Search Bar

हाई कोलेस्ट्रॉल कम करना चाहते है तो करे ये बदलाव - reduce high colestrol

हाई कोलेस्ट्रॉल कम करना चाहते है तो करे ये बदलावशरीर में कोलेस्ट्रॉल बढ़ने के कई कारण हो सकते हैं  हाई कोलेस्ट्रॉल के कारण दिल की बीमारियों और हाई ब्लड प्रेशर का खतरा बढ़ जाता है। मगर आमतौर पर खान-पान की गलत आदतों के कारण कोलेस्ट्रॉल बढ़ने का खतरा ज्यादा होता है। शरीर में 2 तरह के कोलेस्ट्रॉल पाए जाते हैं, गुड कोलेस्ट्रॉल और बैड कोलेस्ट्रॉल। बैड कोलेस्ट्रॉल धमनियों में जमा होकर रोगों का कारण बनता है जबकि गुड कोलेस्ट्रॉल दिल की बीमारियों से बचाने में मददगार होता है। आप आसान ब्लड टेस्ट (खून की जांच) के द्वारा अपने शरीर में दोनों कोलेस्ट्रॉल की मात्रा जान सकते हैं।

हाई कोलेस्ट्रॉल कम करना चाहते है तो करे ये बदलाव - reduce high colestrol

अगर आप हाई कोलेस्ट्रॉल की समस्या से बचना चाहते हैं, तो आपको अपने खानपान में कुछ बदलाव करने चाहिए। 


इसे भी पढ़ें:- हेल्थी summer drink


खान-पान की आदतों में करें ये जरूरी बदलाव


कोलेस्ट्रॉल बढ़ने का मुख्य कारण खान-पान की गलत आदतें हैं। बढ़े हुए कोलेस्ट्रॉल को कम करने के लिए और भविष्य में इसे बढ़ने से रोकने के लिए आपको अपने खान-पान में कुछ जरूरी बदलाव करने जरूरी हैं।

पिज्जा, पेस्ट्री, चिप्स, हॉट डॉग, चाउमीन, नूडल्स, क्रीमी पास्ता, बर्गर आदि का सेवन बिल्कुल कम कर दें। रोज-रोज इनका सेवन बिल्कुल न करें।

अपने खाने, नाश्ते और स्नैक्स में नमक की मात्रा बिल्कुल कम करें। ऐसे फूड्स जिनमें नमक बहुत ज्यादा इस्तेमाल होता है पैकेटबंद चिप्स, फ्राइज, अचार, नमकीन आदि का सेवन बहुत कम मात्रा में करें।
  • सब्जियों का सेवन भरपूर करें। रोजाना कम से कम 5-6 कप सब्जियां जरूर खाएं।
  • होलग्रेन ब्रेड्स, सीरियल, पास्ता, चावल और नूडल्स का प्रयोग करें।


  • शाम के स्नैक्स में बिना नमक और बटर वाले पॉपकॉर्न, सब्जियों से बना स्प्राउट्स और फलों का सेवन करें।
  • खाना बनाने के लिए एक ही नहीं, कई तरह के तेलों का इस्तेमाल करें, जैसे- कैनोला ऑयल, सनफ्लावर ऑयल, सोयाबीन ऑयल, ऑलिव ऑयल आदि का प्रयोग करें।
  • सप्ताह में कम से कम 150 ग्राम ऑयली फिश जरूर खाएं।
  • सप्ताह में 6-7 अंडों का सेवन जरूर करें। खासकर सुबह के नाश्ते में अंडों का सेवन फायदेमंद होता है।
  • लो फैट मिल्क (टोन्ड या स्किम्ड मिल्क) का प्रयोग करें।
  • प्रोसेस्ड फूड्स का सेवन कम से कम करें। इसके अलावा सफेद चीनी और इससे बने फूड्स जैसे- चाय, मिठाई, डोनट्स आदि का सेवन बिल्कुल कम करें।
  • 5 तरह के फूड्स का सेवन करें
  • ताजे रंगीन फल
  • हरी-रंगीन सब्जियां और बीन्स (लेग्यूम्स)
  • व्हाइट मीट, मछली, अंडे, टोफू, नट्स और बीज वाले फूड्स
  • मोटे अनाज जैसे- गेंहूं, दलिया, मक्का, स्वीक कॉर्न, बाजरा, चना, बेसन, आदि का सेवन
  • दूध, योगर्ट, चीज़ और दही-छाछ आदि का सेवन

  • फाइबर वाले आहारों को करें शामिल


    फाइबर मतलब होता है रेशा, यानी ऐसे फूड्स जिनमें रेशे ज्यादा होते हैं, उनका सेवन करना आपके लिए फायदेमंद होता है। मोटे अनाज, ताजे फल, सब्जियां, कॉर्न आदि में फाइबर की मात्रा भरपूर होती है। फलों का रस पीने के बजाय उन्हें कच्चा और साबुत ही खाएं।ब्लड में कोलेस्ट्रॉल को घटाने के लिए फाइबर वाले फूड्स का सेवन करना बहुत जरूरी है।

    Post a Comment

    0 Comments